HomeHealthCovid -19 के बीच देश में बढ़ते हुए बर्ड फ्लू का खतरा,...

Covid -19 के बीच देश में बढ़ते हुए बर्ड फ्लू का खतरा, ये लक्षण दिखते हैं तो सावधान हो जाएं

बर्ड फ्लू इंफेक्शन मुर्गियों के अलावा मोर, बत्तख आदि से भी फैल सकता है। फोटो साभार / एएफपी

बर्ड फ्लू अब इंसानों में भी तेजी से फैल रहा है। इसकी वजह यह है कि अक्सर घर में शिफ्ट जाने वाली मुर्गियों आदि से यह बीमारी इंसानों को लग जाती है, बसीसकि वे उसके पास होते हैं। बर्ड फ्लू का वायरस इंसानों के पक्षियों के संपर्क में रहने से फैलता है।

  • आखरी अपडेट:8 जनवरी, 2021, 11:24 AM IST

बीते साल कोरोनावायरस के डर के साए में गुजरा। इसकी वजह से लाखों लोग इसकी चपेट में आ गए और हजारों जानें चली गईं। जहां अभी तक कोरोना का खतरा टला नहीं है, वहीं अब बर्ड फ्लू फैलने की आशंका जताई जा रही है। वास्तव में, यह डर की वजह यह भी है कि बर्ड फ्लू का वायरस संक्रामक होता है। बर्ड फ्लूइन्स इंसानों के साथ पक्षियों को भी अपना शिकार बनाता है। यह एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस H5N1 की वजह से फैलता है। इसके संक्रमण के लक्षण कुछ ही दिन में दिखाई देने लगते हैं। बर्ड फ्लू इंफेक्शन मुर्गियों के अलावा मोर, बत्तख आदि से भी फैल सकता है। तेजी से फैलते इस वायरस की वजह से चेतन की मौत भी हो सकती है।

इस तरह पक्षियों से इंसानों में फैलता है संक्रमण
बर्ड फ्लू (बर्ड फ्लू) इंसानों में भी तेजी से फैल रहा है। इसकी वजह यह है कि अक्सर घर में शिफ्ट जाने वाली मुर्गियों आदि से यह बीमारी इंसानों को लग जाती है, बसीसकि वे उसके पास होते हैं। बर्ड फ्लू का वायरस इंसानों के पक्षियों के संपर्क में रहने से फैलता है। यह आंख, नाक और मुंह के माध्‍यम से शरीर में प्रवेश कर जाता है।

बर्ड फ्लू के लक्षणबर्ड फ्लू के लक्षण कई तरह से सामने आ सकते हैं। यह समझने में थोड़ा मुश्किल हो सकता है, यह है कि इसका लक्षण भी कुछ अलग नहीं है। इसमें मरीज को कफ की शिकायत रहती है। साथ ही सिर में दर्द के साथ नाक बहना, गले में सूजन, मांसपेशियों के अलावा पेट में दर्द, दस्त के अलावा उल्टी महसूस होना और थकान लगना इसके लक्षण हैं। आँखों में जलन आदि भी इसके लक्षण हो सकते हैं। गंभीर स्थिति में इसकी असरदार हृदय गति पर भी पड़ सकती है।

बर्ड फ्लू संक्रमण कोरोना संक्रमण से कम तक प्रतिकूल नहीं है। ऐसे में इससे बचना चाहिए। सबसे जरूरी है कि साफ सफाई का पूरा धानान रखें, ताकि यह फैल न पाए।
-इसके संक्रमण से बचाव का बेहतर तरीका है कि हाथों को अच्छी तरह से धोया जाए।
-परिजनों के संपर्क में आने से बचना चाहिए। इसलिए जरूरी है कि अपने घर में मुर्गी, बत्तख आदि पक्षियों को न रखें।
-मानस आदि से दूरी बना लें या फिर सुरक्षित स्थान से ही चाहें।
-बर्ड फ्लू के लक्षण नजर आने पर तुरंत डाक्टर को दिखाएँ। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचना सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। हिंदी न्यूज़ 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read