HomeHealthसर्वाइकल कैंसर लक्षण: सेक्स के बाद वजाइना से खून बहना हो सकता...

सर्वाइकल कैंसर लक्षण: सेक्स के बाद वजाइना से खून बहना हो सकता है चेतावनी- News18 हिंदी


महिलाओं में कैंसर से होने वाली मौत का सबसे आम कारण सर्वाइकल कैंसर है? जी हां, आंकड़ों के अनुसार समय पर इलाज न मिलने पर 15 से 44 वर्ष की आयु की महिलाओं में ये कैंसर उनकी मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण बनता है। हालांकि डॉक्टरों की मानें तो इस बीमारी को ठीक किया जा सकता है। सर्वाइकल कैंसर सर्विक्स की लाइनिंग, यानी यूटेरस के निचले हिस्से को संक्रमित करता है। सर्विक्स की लाइनिंग में दो तरह की कोशिकाएं होती हैं- स्क्वैमस या फ्लैट कोशिकाएं और स्तंभ कोशिकाएं। गर्भाशय ग्रीवा के क्षेत्र में जहां एक सेल दूसरे प्रकार की सेल में संशोधित होता है, उसे स्क्वेमो-कॉलमर जंक्शन कहा जाता है। यह ऐसा क्षेत्र है, जहां कैंसर के विकास की सबसे अधिक संभावना रहती है। गर्भाशय-ग्रीवा का कैंसर धीरे-धीरे विकसित होता है और समय के साथ पूर्ण विकसित हो जाता है।

Express.co.uk की खबर के अमुसार सर्वाइकल कैंसर ज्यादातर मानव पैप्लोमा वायरस या एचपीवी के कारण होता है। लगभग सभी ग्रीवा कैंसर एचपीवी में से एक के साथ रक्त संक्रमण के कारण होता है। एचपीवी संक्रमण यौन संपर्क या त्वचा संपर्क के माध्यम से फैलता है। कुछ महिलाओं में गर्भाशय-ग्रीवा की कोशिकाओं में एचपीवी संक्रमण लगातार बना रहता है और इस बीमारी का कारण बनता है। ये निम्न को नियमित ग्रीवा कैंसर स्क्रीनिंग (पैप परीक्षण) द्वारा पता लगाया जा सकता है। पैप परीक्षण के साथ, गर्भाशय ग्रीवा से कोशिकाओं का एक सतही नमूना नियमित पेल्विक टैस्ट के दौरान एक ब्रश से लिया जाता है और कोशिकाओं के विश्लेषण के लिए एक प्रयोगशाला में भेजा जाता है।

यह भी पढ़ें: प्रेग्नेंट महिलाएं भूलकर भी न करें घर के ये काम, हो सकती है बड़ी परेशानी

सर्वाइकल कैंसर को अक्सर टीकाकरण और आधुनिक स्क्रीनिंग तकनीकों से रोका जा सकता है, जो गर्भाशय ग्रीवा में पूर्वकाल परिवर्तन का पता लगा दिया है। गर्भाशय-ग्रीवा के कैंसर का उपचार कई कारकों पर निर्भर करता है, जैसे कि कैंसर की अवस्था, अन्य स्वास्थ्य समस्याएं। सर्जरी, विकिरण, कीमोथेरेपी या तीनों को मिलाकर भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

सर्वाइकल कैंसर के लक्षण
-जजाइना से असामान्य रूप से खून बहना
-रोजिनीकरण या यौन संपर्क के बाद वजाइना से रक्तस्राव
-सामान्य से अधिक लंबे समय पीरियड्स
-अस सामान्यबोलिना महिलाव
-यौन संसर्ग के दौरान दर्द के बीच रक्तस्राव

यह भी पढ़ें: ये घरेलू उपाय आपकी भूख को बढ़ाते हैं, खाने की तरफ दौड़ते हुए आप आएंगे

सर्वाइकल कैंसर को रोकने के सुझाव

-कुंडोम के बिना कई व्यक्तियों के साथ यौन संपर्क से दूर।

-हर तीन साल में एक पेपर्स टेस्ट करवाएं, क्योंकि समय पर पता लगने से इलाज में आसानी से होता है।

-धूम पानी छोड़ दें, क्योंकि सिगरेट में निकोटीन और अन्य घटकों को रक्त की धारा से गुजरना पड़ता है और यह सब गर्भाशय-ग्रीवा में जमा होता है, जहां वे ग्रीवा कोशिकाओं के विकास में बाधक बनते हैं। स्वास्थ्य इम्यूनिटी को भी कमजोर करता है।

-फल, सब्जियां और पूर्ण अनाज से भरपूर हेल्दी डाइट का सेवन करें लेकिन मोटापे से दूर रहें।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read