HomeHealthशवाद ही नहीं सेहत के लिए भी भली है इलायची, जानें इसके...

शवाद ही नहीं सेहत के लिए भी भली है इलायची, जानें इसके फायदे- News18 हिंदी


मसाले के तौर पर इस्तेमाल होने वाली छोटी इलायची (छोटी इलायची) केवल शवाद ही नहीं, सेहत के मामले में बहुत फायदेमंद है। आम तौर पर हम इलायची का प्रयोग खाने को स्वादिष्ठ बनाने के लिए करते हैं या माउथ फ्रेशनर के तौर पर करते हैं। लेकिन अगर इसके फायदों की बात करें तो यह कई मामलों में हमारी सेहत (स्वास्थ्य) के लिए अच्छी है।

तनाव मुक्त रखें

आप अगर तनाव (मानसिक तनाव) में रहते हैं तो इलायची का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। अगर आप मानसिक रूप से खुद का कमजोर महसूस कर रहे हैं और तनाव से गुजर रहे हैं, तो ऐसे में दो इलायची मुंह में डालकर चबाएं। इलायची चबाने सेर्म में तुरंत बदलाव आता है और आप तनाव से राहतफ महसूस करते हैं।

ये भी पढ़ें – पपीते के बीज किडनी से लेकर लिवर तक सेहतमंद, जानें फायदे

मुंह की बदबू से दे राहत

छोटी इलायची स्वाद बढ़ाने के साथ ही माउथ फ्रेशनर की तरह काम करती है। इसे खाने से मुंह की बदबू से राहत मिलती है। अगर मुंह से तेज बदबू आती है और लोग आपसे बात करने में संकोच करते हैं तो आप एक इलायची अपने मुंह में रखें। यह तुरंत बदबू से राहत देगा।

कब्ज में काम की चीज है इलायची

अगर आपको कब्ज है तो छोटी इलायची आपके काम आएगी। आप इसके पानी में उबालकर इस पानी को पिएं। यह ड्रिंक फिक्सिंग क्रिया को दुरुस्त कर कब्ज से राहत दिलाती है।

मोशन सिकनेस में राहत

अगर आपको यात्रा में मोशन सिकनेस की प्रोब्सीम है तो आप यात्रा से पहले इलायची का सेवन करें। यात्रा के दौरान एक इलायची दांत में दबा कर रखें। तुम उल्ली नहीं आएगी।

बीट्स में एसिडिटी से राहत है

इलायची में मौजूद इसेंडशियल ऑयल पेट की अंदरुनी लाइनिंग को मजबूत करता है। एसिडिटी की समस्या में पेट में एसिड जमा हो जाते हैं। जब आप इलायची खाते हैं तो धीरे-धीरे यह अम्लता को हटाता है।

वजन घटाने में मदद करता है

यदि आप बढ़ते वजन और मोटापे से परेशान हैं तो इलायची को अपने डायट में शामिल करें। इलायची में मौजूद तत्व तेजी से वजन घटाने में मददगार होते हैं।

ये भी पढ़ें – डायबिटीज के मरीजों का बल्डल शुगर लेवल कंट्रोल रहेगा, उनका ये तरीका

अस्थमा में सहायता

सांस की बीमारी में भी इलायची काफी फायदेमंद है। वास्तव में इलायची की तासीर गर्म होती है। जिससे सर्दी के दिन में एक या दो बार चबाने से ही इसका असर सामने आने लगता है। यह फेफड़े के संकुचन और अस्थमा में भी फायदेमंद है। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई परिवर्तनों और सूचनाओं के बारे में सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं। हिंदी समाचार 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।)



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read