HomeHealthलेमन टी या ग्रीन टी? वेट घटाने में कौन अधिक प्रभावी...

लेमन टी या ग्रीन टी? वेट घटाने में कौन अधिक प्रभावी है- News18 हिंदी


मोटापा हर एक के लिए परेशानी का सबब है। वजन बढ़ने की इस परेशानी से हर कोई निजात पाना चाहता है और इसके लिए तरह-तरह के जतन करता है। इसके सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है ग्रीन या लेमन टी का सेवन करना। अक्सर सुबह लोग वजन कम (वेट लॉस) करने के लिए इन दोनों का ही इस्तेमाल करते हैं। अब सवाल यह है कि दोनों में से प्रभावी कौन है? ग्रीन या लेमन टी (ग्रीन टी या लेमन टी)। जानते हैं कि दोनों किस तरह से काम करते हैं और कैसे यह हमारे शरीर से वजन कम करने में मदद करते हैं

ग्रीन टी कैसे काम करती है:
इससे शरीर के मेटबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद मिलती है और इसमें मौजूद “एल-थियानिन” (एल-थीनिन) नाम का एमिनो एसिड शरीर में चर्बी को बढ़ने से रोकता है। मेटबॉलिज्म के बढ़ने से शरीर में फैट तेजी से नहीं बढ़ता है। उधर, एमिनो एसिड हमारे नर्वस सिस्टम को शांत रखता है और पेट से जुड़े हार्मोंस जैसे कोर्टिसोल (कोर्टिसोल) से तनाव कम करता है। ग्रीन टी में पॉलीटिनॉल (पॉलीफेनोल्स) होता है जो शरीर की चर्बी घटाने में मदद देता है। इसके साथ ही यह डायबिटीज को कंट्रोल में करता है और हाई ब्लड प्रेशर से भी निजात दिलाता है।

यह भी पढ़ें: फायदा ही नहीं, नुकसान भी कर सकता है हल्दी वाला दूध

ग्रीन टी को पीने के तरीके:

इसे खाने से एक घंटे पहले पीए तो अधिक फायदा होता है।
एक दिन में तीन या इससे अधिक कप ग्रीन टी नहीं लेनी चाहिए।
ग्रीन टी में नींबू, शहद, तुलसी के पत्ते या अदरक ले सकते हैं।
खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पीने से भोजन।
रात को सोते समय ग्रीन टी पीने से वजन तेजी से कम होता है।

लेमन टी का काम:

लेमन टी सामान्य चाय की तुलना में बेहद कम कैलोरीज वाली होती है। इसमें चीनी की जगह शहद मिलाने से ये दोगुना असर करती है। नींबू में विटामीन- सी होता है जो खून से गंध निकालता है। इसे पीने से ताजगी आती है सो अलग। इससे थोमा भी बेहतर बनी हुई है। नींबू में मौजूद पोटैशियम हमारे मेटबॉलिज्म और पाचन क्रिया को तेज करता है, विटामीन- सी से वजन कम करने में भी मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें: सर्दियों में जरूर खाएं चौलाई का साग, इम्यूनिटी को स्ट्रॉन्ग कर बीमारियों को दूर करता है
लेमन टी के इस्तेमाल का तरीका:
काली चाय में नींबू का रस डालकर पीना सेहत सही रखने के साथ ही वेट घटाने में भी मददगार होता है।
लेमन टी में अदरक, पुलचीनी, तुलसी से इसकी मेडिसिनल प्रॉपर्टीज को बढ़ाया जा सकता है।

दोनों में कौन बेहतर है:
विशेषज्ञ मानते हैं कि ग्रीन टी में मौजूद एल-थियानिन (एल-थीनिन) और पोलीरिनॉल (पॉलीफेनोल) जैसे तत्व इसे वजन कम करने के लिए अधिक फायदेमंद बनाते हैं। हालांकि इसके साथ में जब सही एक्सरसाइज और डाइट का पालन किया जाता है। लेकिन ग्रीन टी अधिक पीने से कई तरह के नुकसान भी हो सकते हैं। लेमन टी में भी वेट कम करने के गुण होते हैं, लेकिन ग्रीन से यह उन्नीस ही बैठती है। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। हिंदी समाचार 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। संपर्क पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read