HomeEducationयूपी बोर्ड प्रैक्टिकल परीक्षा 2021: को विभाजित के कारण इस बार प्रायोगिक...

यूपी बोर्ड प्रैक्टिकल परीक्षा 2021: को विभाजित के कारण इस बार प्रायोगिक परीक्षाओं में सख्ती होगी, जारी किए गए गाइडलाइंस


यूपी बोर्ड प्रैक्टिकल परीक्षा 2021: उत्तर प्रदेश बोर्ड की इस साल की दसवीं और बारहवीं की प्रायोगिक परीक्षाएं अगले महीने से शुरू होंगी। इस साल कोविद के कारण इन प्रेरक परीक्षाओं में काफी सख्ती बरती जाएगी। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने इस बाबत को विभाजित गाइडलाइंस और एसओपीजे भी जारी कर दी हैं। स्टूडेंट्स, टीचर्स और बाकी स्टाफ को परीक्षाएं आयोजित करने का समय इन सभी का पालन करना होगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यूपी बोर्ड प्रैक्टिल परीक्षाएं होती हैं 03 फरवरी से 22 फरवरी 2021 तक के मध्य प्रस्तावित हैं। महामारी के इस दौर में सुरक्षित तरीके से परीक्षाएं आयोजित की जानी चाहिए इसलिए बोर्ड ने गाइडलाइंस जारी की हैं। विस्तार से जानें

प्रयोगशालाएँ होंगी सैनिटरीज़ –

ये गाइडलाइंस में कहा गया है कि स्टूडेंट्स के इस्तेमाल के पहले और बाद में रिलायंसट्रीज को ठीक से सैनिटरीज़ किया जाएगा। स्कूल बस या ऐसा कोई भी वाहन जिसमें बल्क में स्टूडेंट्स बैठते हैं, उसे भी सैनिटरीज़ किया जाए।

तापीय धारिता –

स्टूडेंट्स, टीचर्स, स्टाफ सभी की थर्मल ट्रेनिंग की जाएगी और अगर किसी को भी टेम्परेचर निकलता है तो उसकी परीक्षा में भाग लेने की अनुमति नहीं होगी। कोई ही स्टूडेंट्स और नो और भी लक्षण न हो इस बात पर भी कड़ी नजर रखी जाएगी।

हाथ की हाइजीन पर होगा फोकस –

हाथ की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। शिशु, टॉयलेट्स वगैरह हर जगह सैनिटाइजर और साबुन रखा जाएगा ताकि स्टूडेंट्स अपने हाथ ठीक से साफ करें।

सोशल डिस्टेंसिंग का खास ख्याल –

सोशल डिस्टेंसिंग का भी खास ख्याल रखा जाएगा और संभव हुआ तो स्कूलों को अनुमति दी जाएगी कि वे अलग-अलग एंट्री और एग्जिट प्वॉइंट बनाएं। परीक्षा के दौरान स्टूडेंट्स को एक-दूसरे से 6 फीट दूर रहना होगा।

फेस मास्क होगा इवाटरी –

फेस मास्क पहनना हर किसी के लिए अनिवार्य होगा और स्कूल को कुछ फ़ंक्शन अतिरिक्त भी रखने होंगे ताकि किसी को भी ज़रूरत पड़े तो उसे फ़ैक्स उपलब्ध कराया जा सके।

सीसीटीवी से होगी निगरानी –

परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी से एपिसोड निगरानी की जाएगी ताकि यह इंश्योर हो जाए कि वहां सभी नियमों का पालन हो रहा है। स्कूल प्रिंसिपल्स को कैमरों की रिकॉर्डिंग सेव द्वारा रखनी होगी।

IAS सक्सेस स्टोरी: इंजीनियर अभिनव दूसरे प्रयास में यूपीएससी टॉपर बनें, ऐसे पूरा किया यह कठिन सफर

शिक्षा ऋण जानकारी:
शिक्षा ऋण ईएमआई की गणना करें



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read