HomeHealthमछली का सेवन स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है, तनाव से जुड़ा...

मछली का सेवन स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है, तनाव से जुड़ा है कनेक्शन- News18 हिंदी


भले ही आप बंगाली न हों लेकिन आपको पता है कि मछली (मछली) खाने के कई फायदे हैं। खासतौर पर ठंड के मौसम (सर्दियों का मौसम) में मछली का सेवन जरूर करना चाहिए। स्वादिष्ट होने के अलावा, मछली खाने से आपके स्वास्थ्य को कई तरीकों से लाभ मिल सकता है। आपको यह अजीब लग सकता है कि बंगाल, असम और भारत के तटीय क्षेत्रों में लोग भोजन के रूप में मछली को विशेष महत्व देते हैं। मछली बनाना भी बहुत आसान है, क्योंकि मछली का मांस काफी तेजी से पकता है। चावल और रोटी के साथ आसानी से यह खा सकता है। मछली स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखता है। यहाँ कुछ कारण हैं कि आपको हर दिन निश्चित रूप से मछली क्यों खानी चाहिए?

चाहे फैट
फैट युक्त मछली (सैल्मन, ट्राउट, सार्डिन, टूना और मैकेरल) वास्तव में स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छी तरह से हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि मछली ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरी होती है। ये फैटी एसिड मस्तिष्क और आंखों की उचित देखभाल के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं।

यह भी पढ़ें: सर्दियों में जरूर खाएं चौलाई का साग, इम्यूनिटी को स्ट्रॉन्ग कर बीमारियों को दूर करता है

स्वस्थ दिल

मछली में सैचुरेटेड फैट नहीं होता है, इस कारण से यह स्वास्थ्य और विशेषकर हृदय के लिए अत्यधिक लाभदायक है। चिकन, मटन जैसे प्रोटीन के अन्य स्रोतों के बजाय यदि आप नियमित रूप से मछली खाते हैं तो यह आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए बेहतर होगा क्योंकि इसमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत कम होती है।

विटामिन डी से नीचे
मछली विटामिन-डी का एक प्राकृतिक स्रोत है। शरीर को अन्य सभी प्रकार के पोषक तत्वों को अवशोषित करने और स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में मदद करने के लिए विटामिन-डी की जरूरत होती है। मछली खाने से शरीर की यह आवश्यकता पूरी हो जाती है।

तनाव से लड़ने में सहायक
मछली में ओमेगा -3 फैटी एसिड और डीएचए से विटामिन-डी तक सभी तत्व पाए जाते हैं और जब इसका सेवन किया जाता है तो ये सभी पोषक तत्व शरीर को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करते हैं। साथ ही ये अवसाद और मानसिक स्वास्थ्य जैसी बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं।

यह भी पढ़ें: सर्दियों में जरूर खाएं ड्रैगन फ्रूट, इम्यूनिटी होती है मजबूत

डायबिटीज में लाभदायक
यदि आप नियमित रूप से मछली खाते हैं, तो डायबिटीज जैसी बीमारियों का खतरा कम कर सकते हैं। यह शरीर में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह कई बड़ी बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।(अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचना सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। हिंदी न्यूज़ 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read