HomeHealthमकर संक्रांति 2021: मकर संक्रांति पर इन चीजों का दान करें, घर...

मकर संक्रांति 2021: मकर संक्रांति पर इन चीजों का दान करें, घर में खुशहाली रहेगी


मकर संक्रांति 2021: इस दिन तिल या ग्राम का दान शुभ माना जाता है।

मकर संक्रांति को दान-पुण्य का दिन भी माना जाता है। इस दिन दान-पुण्य का विशेष महत्व है। मानसत्ता है कि किसी को दुख देकर कमाए गए धन से दान नहीं करना चाहिए। ऐसा दान की नहीं माना जाता है और इसका कोई फल भी नहीं मिलता है।

मकर संक्रांति 2021: मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी को मनाया जाएगा। यह हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखता है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन को नए फल और नए ऋतु के आगमन के लिए मनाया जाता है। जब सूर्य देव मकर राशि में प्रवेश करते हैं तो मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है। इस दिन लाखों श्रद्धालु गंगा और अन्य पावन नदियों के तट पर स्नान और दान, धर्म करते हैं। मकर संक्रांति को दान-पुण्य का दिन भी माना जाता है। इस दिन दान-पुण्य का विशेष महत्व है। मानसत्ता है कि किसी को दुख देकर कमाए गए धन से दान नहीं करना चाहिए। ऐसा दान की नहीं माना जाता है और इसका कोई फल भी नहीं मिलता है। इसलिए दान हमेशा अच्छे तरीके से कमाए गए धन में से ही करना माना जाता है।

ज़रूरतमंदों को चलो दान
दान देने के पीछे कारण ऐसा होता है कि यह पात्र को ही दिया जाना चाहिए। यानी जरूरतमंदों को ही दान किया जाना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार दान ऐसी नियति को दिया जाना चाहिए जो जरूरतमंद हो और इसका सदुपयोग करे। केवल दान का फल खोज होता है। मान्‍यता है कि दान अच्‍छे मन से करना चाहिए और इसको देने के बाद इसका पश्चाताप भी नहीं करना चाहिए। वरना दान देने वाले को इसका फल और पुण्य नहीं मिलता है। वहाँ दान ऐसी प्रतिज्ञा को जाने दो जो इसके योग्य बनें और दान मिलने पर जोर दिया जाए। ऐसे लोग जो दान देने से वंचित नहीं होते हैं और उनसे मिलने की अपेक्षा करते हैं, जबकि दान देने वाले को किसी भी तरह से अपमान करना पड़ता है, उन्हें दान नहीं दिया जाना चाहिए।

दान इन न लेट्स दिस थिंग्सवहीं यह भी कहा जाता है कि दान देने के पीछे नियक्ति का लक्ष्‍य किसी तरह का दिखावा करना या यश पाना न हो। ऐसा दान की नहीं माना जाता है। बसीक दान इसलिए दिया जाता है कि आपको भगवान ने यह योग बनाया है कि आप अन्य लोगों की सहायता करें। वहीं इस बात का भी ध्‍यान रखें कि आप जो चीजें दान कर रहे हैं, वे अच्‍छी हों ऐसी न हो कि आप बूढ़े हों और अपने उपयोग में न लाई जाने वाली पुरानी, ​​बेकार चीजें लोगों को दान करें।

यह भी पढ़ें – मकर संक्रांति पर जब ब्लैंस पतंग, बच्चों को लेकर बरतें ये खबर

ये बातें का कर सकते हैं दान
मकर संक्रांति को दान-पुण्य का दिन माना जाता है। इस दिन आप दान में नमक, घी और अनाज भी दान कर सकते हैं। इसका भी बहुत महत्व है। शिव पुराण के अनुसार इस दिन आप नए वस्त्रों का दान भी कर सकते हैं। यह माना जाता है कि है। इसके अलावा इस दिन तिल या ग्राम का दान करना शुभ माना जाता है। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचना सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। हिंदी न्यूज़ 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read