HomeHealthमकर संक्रांति पर जब ब्लैंस पतंग, बच्चों को लेकर बरतें ये खबर

मकर संक्रांति पर जब ब्लैंस पतंग, बच्चों को लेकर बरतें ये खबर


मकर संक्रांति का पर्व तिल-गुड़ और पतंगबाजी के बिना अधूरा समझा जाता है।

मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की परंपरा रही है। इसे तिल-गुड़ और पतंगबाजी के बिना अधूरा समझा जाता है। यही कारण है कि इस मौके पर आसमानी रंग-बिरंगी पतंगों से सजा नजर आती है। लेकिन कई बार थोड़ा सी डिफ़ॉल्ट हादसे का कारण बन सकता है। ऐसे में कुछ एहतियात जरूर बरतें।

मकर संक्रांति का पर्व लगभग है। इस मौके पर लोग जहां तिल के व्यंजनों का मजा लेते हैं, वहीं इस मौके पर पतंग उड़ाने की परंपरा भी रही है। इसे तिल-गुड़ और पतंगबाजी के बिना अधूरा समझा जाता है। यही कारण है कि इस मौके पर आसमानी रंग-बिरंगी पतंगों से सजा नजर आती है। बचचे हों या बड़े सब अपनी अपनी छतों पर चढ़ कर पतंगें उड़ाते नजर आते हैं। लेकिन कई बार थोड़ी सी डिफ़ॉल्ट हुई नहीं कि हादसा हो जाता है। खासतौर पर विज्ञानचे इसका शिकार बनते हैं। ऐसे में जरूरी है कि इस मौके पर जब खेचे पतंग उड़ा रहे हों तो उनका खास खयाल रखा जाए। आज हम आपको इस संबंध में बरती जाने वाली एहतियात के बारे में बता रहे हैं। अगर पतंग उड़ाते समय ये दिन बरती जाएं, तो कई परेशानियों से बचा जा सकता है।

ऊंचाई पर न उड़ाएँ पतंग
मकर संक्रांति (मकर संक्रांति) पर पतंग (पतंग) उड़ाते समय अचरसर चेन्नई के निगा सिर्फ पतंग पर ही होता है। ऐसे में उनकी छत से या ऊंचाई से गिर कर घायल होने का खतरा जियालदा रहता है। इसीलिए पोर्टलैंड को ऐसी जगहों पर केवल पतंग उड़ाने को कहें जहां उनके लिए कोई खतरा नहीं हो। ऐसी जगह न हो जहाँ गड्ढे हों या वे किसी बिना मुंडेर की छत पर से पतंग न उड़ाएँ। इस तरह खुशी का यह मौका बीती तरह बीतेगा।

ये भी पढ़ें – चाहते हैं हैप्‍पी फैमिली तो वर्किंग वीमेन ऐसे करें कैंचे की परवरिशन तो चायनीज मांझा

ऐसे कई हादसे हुए हैं जिनमें चायनीज डोर से गला कटने की बात सामने आई है। इसीलिए आप न्यूज़डन के अलावा खुद भी चायनीज मांझ से दूरी बनाए रखें। अचरसर मांझा खरीदते समय लोग इस बात को नजर अंदाज करते हैं और चायनीज मांझा खरीद लेते हैं। इस पर कांच का बुरादा आदि चढ़ा होता है। ऐसे में पतंग उड़ाने वाला या कोई अन्य इससे घायल हो सकता है। वहीं आस-पास उड़ने वाले पक्षी भी इससे घायल हो सकते हैं। इसलिए सामान्य मांझा ही चाहते हैं। इससे भीचेचे भी सुरक्षित रहेंग और अन्य लोग भी।

ये भी पढ़ें – ये 5 बातें जो 2021 में आपको संगी बैस्ट पैरेंट बनाती हैं, आप भी जानते हैं

सड़क और खंभे से दूरी बनाए रखें
पतंग उड़ाने के लिए ऐसी जगह का चुनाव करें जहां लोगों की आवाजाही न हो और जहां बिजली के खंभे आदि भी दूरी पर हों। वरना पतंग उड़ाते समय बार-बार डोर इन खंभों से उल्झीगी और सड़क आदि पर जाएगी और ऐसे में दूसरे लोगों के साथ आपके परिवार का भी दुर्घटना का शिकार हो सकता है। इसलिए बिजली के खंभे, तारों आदि के पास पतंग न उड़ाते हैं। कई बार पतंग किसी खंभे, तार आदि में फंस जाती है। इसके अलावाशेचे इसे निकालने दौड़ पड़ते हैं, जो जानलेवा हो सकता है।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read