HomeJobs and Careerभारतीय सेना भर्ती 2021: 12 वीं पास हैं तो सेना में अफसर...

भारतीय सेना भर्ती 2021: 12 वीं पास हैं तो सेना में अफसर बनने का मौका शानदार है


भारतीय सेना भर्ती 2021: भारतीय थल सेना में ऑफिसर बनने के 12 वीं पास युवाओं के लिए बेहद महत्वपूर्ण अवसर आया है। पात्र और इच्छुक स्टूडेंट्स इसके लिए 1 फरवरी से अपलाई कर सकते हैं। इसकी जानकारी के लिए joinindianarmy.nic.in पर इसकी संक्षिप्त सूचना जारी की गई है। इस भर्ती परीक्षा का डिटेल्स नोटिफिकेशन जल्द ही जारी किया जाएगा। इस भर्ती परीक्षा के लिए वे स्टूडेंट्स पात्र होगें जो कक्षा 12 वीं की परीक्षा विज्ञान वर्ग से पास हैं। ये भर्तियां ’10 +2 टेक्निकल एंट्री स्कीम (टीईईएस) कोर्स -45 ‘के तहत की जाएगी। इस प्रशिक्षण के लिए जिन कैंडिडेट्स का चयन किया जाएगा। उन्हें लेफ्टिनेंट की रैंक पर परमानेंट कमिशन प्रदान किया जाएगा।

10 + 2 तकनीकी एंट्री स्कीम ()टीआईईएस) के के लिए कौन है? कर रहा है कर सकते हैं है अपाइ?

टेक्निकल एंट्री स्कीम कोर्स के लिए विज्ञान विषय से 10 + 2 वीं कक्षा में केवल अविवाहित पुरुष कैंडिडेट्स ही आवेदन के पात्र हैं। स्टूडेंट्स को मान्यता प्राप्त बोर्ड / स्कूल से न्यूनतम 70 प्रतिशत अंक के साथ फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स विषयों से 12 वीं पास होना चाहिए।

टेक्निकल एंट्री स्कीम के तहत कोर्स –45 के लिए चयनित कैंडिडेट्स को चार वर्षीय पाठ्यक्रम पूरा करना होगा। इस कोर्स को पूरा करने के बाद चयनित कैडिट को लेफ्टिनेंट की रैंक पर परमानेंट कमीशन द्वारा नियुक्त किया जाएगा।

जब से है करना है आवेदन

इंटरमीडिएट विज्ञानं विषय के साथ पास और अविवाहित कैंडिडेट्स अपने आवेदन ऑनलाइन माध्यम से अपलाई करना होगा। ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया joinindianarmy.nic.in पर 1 फरवरी से शुरू होगी। आवेदन करने के पहले स्टूडेंट्स ऑफिशियल नोटिफिकेशन का डिटेल्स पढना होगा।

प्रशिक्षण

  • कैंडिडेट्स के प्रशिक्षण की अवधि कुल पांच साल होगी। इस दौरान उन्हें 1 वर्ष बेसिक मिलिट्री ट्रेनिंग और 4 साल की तकनीकी तकनीकी दोनों को सफलता पूर्वक पास करना होगा। ।
  • बेसिक मिलिट्री ट्रेनिंग ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी गया में दी जाएगी।
  • चार वर्षीय तकनीकी प्रशिक्षण दो चरणों में होगा। प्रथम चरण में प्री कमीशन ट्रेनिंग का होगा, जो तीन साल की होगी। दूसरे चरण की पोस्ट कमीशन ट्रेनिंग एक साल की होगी।
  • अंतिम एग्जाम वाले करने वाले उम्मीदवारों को केवी की डिग्री प्रदान की जाएगी।
  • इसके अलावा प्रशिक्षण के चार साल सफलतापूर्वक पूरे करने वाले किसानों को सेना में लेफ्टिनेंट की रैंक पर परमानेंट कमीशन दिया जाएगा।

शिक्षा ऋण जानकारी:
शिक्षा ऋण ईएमआई की गणना करें



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read