Home Health दिल पर भारी पड़ सकता है प्रोसेड फूड, हो सकता है समय...

दिल पर भारी पड़ सकता है प्रोसेड फूड, हो सकता है समय से पहले मौत: स्टडी | प्रोसेस्ड फूड पर पॉडकास्ट दिल की बीमारी का कारण बन सकता है और समय से पहले मौत का पता चलता है


मौजूदा समय में शारीरिक (शारीरिक) और मानसिक (मानसिक रूप से) स्वस्थ रहना सबसे ज्यादा आवश्यक है। खुद को स्वस्थ रखने के लिए एक अच्छी लाइफस्टाइल और हेल्दी शिशुओं का सेवन बहुत ही आवश्यक हैं। हम जिन चीजों का सेवन करते हैं, उन पर ही हमारी फिटन निर्भर करती है। डॉक्टरों की मानें प्रोसेस्ड फूड (प्रोसेस्ड फूड) हेल्थ के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं होता है और हमें इसे कम से कम खाने की कोशिश करनी चाहिए। भारतीय इंजन की खबर के मुताबिक कई लोग प्रोसेड फूड खाना काफी पसंद करते हैं जिनमें पिज्जा, बर्गर, शुगर युक्त स्नैक्स, केक आदि शामिल हैं। न्यूज 18 के आज के विशेष पोडकास्ट में हम प्रोसेड फूड के फैसले की बात कर रहे हैं।

अमेरिकन जर्नल ऑफ़ क्लिनिकल न्यूट्रीशन में पब्लिश एक जर्नल के मुताबिक शुगर और प्रिजर्वेटिव्स युक्त इन अल्ट्रा प्रोसेड शिशुओं को खाने से हार्ट संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ रहा है। सिर्फ इतना ही नहीं जर्नल के मुताबिक इनका सेवन करने से समय से पहले मौत (प्रीमेच्योर डेथ) की संभावना भी बनी रहती है। इनसाइडर की एक रिपोर्ट के अनुसार इटली के शोधकतार्ओं के एक ग्रुप ने 35 साल और उससे अधिक उम्र के 24,325 पुरुष और महिलाओं की लाइफस्टाइल को 10 साल तक फॉलो किया और कुछ आंकड़े इकट्ठा किए। इसमें उन पुरुषों और महिलाओं के खाने की आदतें और स्वास्थ्य का विवरण मौजूद था।

यह भी सुनता है: आईवीएफ तकनीक दे सकती है आपको संतान खुशी, पहले जान लें ये खास बातें

इस रिपोर्ट से पता चला कि जिन लोगों ने अधिक मात्रा में अल्ट्रा प्रोसेड शिशुओं का सेवन किया था उनमें कार्डियोवास्कुलर रोग, हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा अधिक दिखाई दिया, जबकि प्रोसेड फूड का सेवन न करने वालों में यह खतरा कम था। जिन भागों में अधिक अनहेल्दी खाना पकाने, उन्हें अल्ट्रा प्रोसेड फूड के रूप में अपने दैनिक कैलोरी का कम से कम 15 प्रतिशत ही हुआ है। प्रोसेड फूड का सेवन करने पर एक दिन में 300 से 1250 कैलोरी शरीर इनटेक करता है।

यह भी सुनता है: जन्मदिन विशेष: उदय प्रकाश जब कहते हैं, ‘मैं मिसरी घुला दूध हूं मीठा’

इस प्रकार, उस श्रेणी के लोगों को अपने दूसरे साथियों की तुलना में हृदय रोग से मरने की संभावना 58 प्रतिशत अधिक थी, जो कम से कम अल्ट्रा प्रोसेड भोजन का सेवन करते थे। उनमें स्ट्रोक या एक अन्य प्रकार के सेरेब्रोवास्कुलर रोग से मरने की संभावना 52 प्रतिशत अधिक थी। पहले से किए गए अध्ययनों में भी यह पता चला है कि अल्ट्रा प्रोसेड खाद्य अधिक स्वादिष्ट होते हैं, जिससे लोगों को अधिक भूख लगती है। अधिक भोजन खाने से वजन बढ़ने की संभावना भी बनी रहती है।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read