HomeJobs and Careerजेईई मेन प्रिपरेशन टिप्स: अपनी तैयारी के अनुसार करें परीक्षा के सेशन...

जेईई मेन प्रिपरेशन टिप्स: अपनी तैयारी के अनुसार करें परीक्षा के सेशन का चुनाव, एक्सपर्ट से जानें चार बार होने वाली परीक्षा के फायदे और सही सेशन के चुनाव का तरीका


  • हिंदी समाचार
  • व्यवसाय
  • JEE Main 2021 की तैयारी के टिप्स | अपनी तैयारी के अनुसार, परीक्षा का सत्र चुनें, विशेषज्ञ से जानिए परीक्षा के लाभ ४ सत्र में और सही सत्र चुनने की विधि

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

10 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

IIT और कंप्यूटर इंस्टीट्यूट में एडमिशन के लिए होने वाले JEE मेन की परीक्षा में अब लगभग डेढ़ महीने का समय बाकी है। ऐसे में स्टूडेंट्स उन टॉपिक्स पर ध्यान दे सकते हैं, जिन्हें बोरिंग समझकर छोड़ दिया गया है या अभी तक बहुत ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया है। वहीं, कुछ ऐसे स्टूडेंट्स भी हैं, जो लॉकडाउन में तैयारी पूरी करने के बाद अब अपनी तैयारी और मजबूत कर रहे हैं। इस तरह के FIITJEE जयपुर के कार्यकारी पार्टनर ध्रुव कुमार बैनर्जी बच्चों को बता रहे हैं परीक्षा में शामिल होने से पहले तैयारी की प्लानिंग और कुछ टिप्स के बारे में-

अपनी सुविधा के अनुसार करें परीक्षा सेशन का चुनाव

एक्सपर्ट ध्रुव कुमार बैनर्जी के मुताबिक स्टूडेंट्स अपनी तैयारी के हिसाब से चारों में से 2 या 3 बार परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।]इसके अलावा वह चारों सेशन की परीक्षा भी दे सकती है। ऐसे स्टूडेंट्स जिन्होंने लॉकडाउन में अपनी तैयारी पूरी नहीं की, वह परीक्षा के लास्ट अटेंड्ट में शामिल हो सकते हैं। वहीं, वह स्टूडेंट जिसकी तैयारी पूरी हो चुकी है, वह फरवरी में होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकता है।

चैप्टर और टॉपिक वाइज करें रिविजन: –

फिजिक्स कंसेप्चुअल एज्रे है, जिसमें कॉन्सेप्ट काफी मायने रखते हैं। स्टूडेंट्स को 12 वीं की फिजिक्स के अलावा 11 वीं की फिजिक्स को भी पढ़ना चाहिए। इसमें से एक टॉपिक मैकेनिक बहुत महत्वपूर्ण है। वहीं, मॉडर्न फिजिक्स में सेमी-कंडक्टर टॉपिक स्टूडेंट्स को शुरुआत में बोरिंग लगता है, लेकिन प्रैक्टिकल एप्रोच के साथ पढ़ा जाए तो यह काफी इंट्रेस्टिंग है।

जेईई मेन में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथेमेटिक्स तीनों एजेक्ट से सवाल पूछे जाएंगे। ऐसे में परीक्षाओ की तारीख की कहती है कि सभी एक्ट्रेसेस को चैप्टर और टॉपिक वाइज रिविजन करें। लघु नोट और फ़ॉर्मूले की लिस्ट बनाएँ। ये नोट्स एग्जाम्स से पहले क्विक रिविजन में मदद करेंगे।

ऐसे करें तैयारी-

1) ज्यादा से ज्यादा फॉर्मूले रिप्रेजेंटेटिव

जेईई के लिए जो नोट्स तैयार किए जाते हैं, वे पढ़ते हैं। फिजिक्स, केमिस्ट्री जैसे एजेक्ट्स के फॉर्मूला को ज्यादा से ज्यादा दोहराते रहें। एग्जाम के दौरान स्टूडेंट्स अक्सर कुछ फॉर्मूले की वजह से सवाल नहीं हल कर पाते हैं।

2) प्रैक्टिस ही सबसे प्रभावी तरीका है

एग्जाम में अब ज्यादा समय नहीं है, तो पढ़े गए टॉपिक्स की ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करें। जितना हो सके समर्थो को दोहराते रहें और क्वेश्चन बैंक को भी ध्यान से पढ़े रहें। कम से कम पिछले 10 साल के क्वेश्चन पेपर जरूर सॉल्व करें।

3) NCERT की बुक्स से करें तैयारी

यह ध्यान रखें कि जेईई के लिए मिनिमम और पर्याप्त स्टडी मैटेरियल 12 वीं का कोर्स ही है। इसलिए कोर्स को अच्छे से दोहराए और जितना संभव हो सके NCERT की बुक्स पढ़ें।

तैयारी के लिए इन टिप्स को फॉलो करें-

  • इलेक्ट्रिसिटी-मैग्नेटिज्म टॉपिक के न्यूमेरिकल भाग की प्रैक्टिस करें।
  • पिछले 10 साल के क्वेश्चन पेपर ज्यादा से ज्यादा सॉल्व करें।
  • वीकली टारगेट सेट करें यानी 11 वीं के पहले पढ़े चैप्टर्स जनवरी और 12 वें के फरवरी में रिवाइज करें।
  • प्लानिंग के साथ खुद को एनालाइज कर एजेक्ट वाइज अपनी तैयारी के स्टेटस के बारे में पता करें।
  • अपनी तैयारी के हिसाब से परीक्षा के सेशन का चुनाव करें और रिवीजन के लिए लघु नोट्स तैयार करें।
  • सुबह जल्दी उठने की आदत डालें और अपनी बायोलॉजिकल क्लॉक में सुधार लाएं।
  • स्ट्रेंथ और वीकनेस को पहचान कर उसे और मजबूत करने पर काम करें।
  • 9 से 12 और 2 से 5 बजे फिर से पढ़ने की आदत डालें, ताकि परीक्षा के समय ध्यान रहे।
  • कई महीनों से घर में रहने के कारण सिटिंग की आदत छूट गई है, जैसे कि एक्सरसाइज करें।

यह भी पढ़ें-

एग्जाम का शेड्यूल जारी: IIT खड़गपुर तीन जुलाई को JEE एडवांस्ड कर जाएगा, इस बार भी 12 वीं में 75% अंक जरूरी नहीं

जेईई में 2021: पहली बार इंग्लिश के साथ हिंदी सहित 13 भाषाओं में परीक्षा होगी, निगेटिव मार्किंग भी हताई



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read