HomeHealthचुनौतियों से ना डरें, इन 5 बातों को अपनाकर महिलाएं बढ़ाती हैं...

चुनौतियों से ना डरें, इन 5 बातों को अपनाकर महिलाएं बढ़ाती हैं और आत्मकमविवास- News18 हिंदी


कठिनाइयों को हर किसी के जीवन में हैं। कुछ लोग उन चुनौतियों के सामने रुक जाते हैं और कुछ उन्हें पार कर सफलता हासिल करते हैं। इन परिस्थितियों में अगर हमारा सबसे बड़ा सहारा होता है तो वह हमारा आदममविवास (आत्मविश्वास) है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं के जीवन में जियादा उतार चढ़ाव आते हैं। परिवार और जिस्मामेदियों (ज़िम्मेदारी) के बीच कई बार उनमें से ऐसा लगने लगता है कि शायद वह इस पहाड़ सी जिम्ममबारी वालों के बीच दब कर रह जाएंगी और दुबारा अपनी जिंदगी को नहीं जी पाएंगी।

लेकिन ऐसा नहीं होता है। हमें सिर्फ खुद पर विशवास रखने भर की देरी होती है। तमाम मुश्किल परिस्थिति के बीच आकृतमविचारस (आत्मविश्वास) ही महिलाओं का वह सहारा बन सकती है जो उनसे किसी को भी परिस्थिति में सही निर्णय लेने और उन्हें मिले आड़ेमसात करने मे मददगार होता है। तो आइए जानते हैं कि महिलाएं आखिर किन बातों को ध्‍यान में रखकर अपना आत्‍मविश्‍वास बढ़ा सकती हैं।

1.खुद की ताकत तो पहचान

याद रखें कि हर किसी की ताकत उसके भीतर रहती है। बस उसे खोजने और उस पर भरोसा करने की देर होती है। अचरार हम बुरी परिस्थितियों के सामने झुक जाते हैं और खुद पर कमजोर होने का ठपपा लगा देते हैं। ऐसा कताई ना करें। खुद के अंदर झाँके और अपनी ताकत को पहचानें।

2. इतिहास में लाइव लीव लेट

कई बार हम इतिहास को ही अपना जीवन का सहारा मान लेते हैं। ऐसा नहीं है। फ्यूचर में जीना सीखता है। प्रालान बनाएँ। छोटे छोटे प्रालान बनाएँ और उन्हें डाई करें। उन्हें पूरा करें और उन पर टिक पाते हैं कि कैसे पहले पूरा किया गया था। बहुत खुशियों के साथ जियाउन। डस्ट न। यदि आपने कभी कोई गलत निर्णय लिया है तो उसे हमेशा निराश ना हों। आगे बढ़ता है। याद रखें कि ‘जब जागो केवल सवेरा’, इस पंक्ति को अपने जीवन का सार मान लें।

3. योगा और एक्‍सरसाइज को ना छोड़ें

महिलाएं कई बार यह मान लेती हैं कि अब एक्टरसरजज आदि का फायदा है। ऐसा नहीं करना चाहिए। यह आपके शरीर और मन को जीवनभर मजबूती देता है। जिससे आप कठिन निर्णय लेने और विचार करने में सक्षम हो पाती हैं। व्यायाम करने के लिए अपने जन्मदिन के जीवन का हिस्सा जरूर बनाएं।

4. डर से डरते नहीं, सामना करना पड़ता है

असफलता से डरना नहीं चाहिए। इसका डट कर सामना करना चाहिए। याद रखिए असफलता ही आपका सबसे बड़ा गुरू है। लीन सीखें। एक दिन सफलता हासिल होगी और आप इन असफलताओं को याद कर सकते हैं।

5. खुद को अद्यतन रखें

सीखने की कोई उम्र नहीं होती है। हर वसीयत कुछ सीखने की कोशिश में रहें। ऑफ़लाइन यालास या यूट्यब पर मुफ्तlala खोज करें। अपने से कम उम्र के लोगों से भी मदद लें। यह आपको निखरने में मददगार होगा और आप जानकारी हासिल करने की वजह से आकृतमविप्रवास से तंग बेगी। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचना सामान्य जानकारियों के आधार पर हैं। हिंदी समाचार 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। ये पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।)



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read