Home Religious चाणक्य निति गीता अपडेटेश अगर आप जीवन में सफल होना चाहते हैं...

चाणक्य निति गीता अपडेटेश अगर आप जीवन में सफल होना चाहते हैं तो इन चीजों को ले लीजिए लक्ष्मी जी सफलता और सफलाता की कुंजी के लिए महत्वपूर्ण हैं


सफ़लता की कुनजी: चाणक्य की चाणक्य नीति कहती है कि जीवन की सफलता और सफलता व्यक्ति के अच्छे और बुरे आचरणों पर निर्भर करती है। कहने का अर्थ है कि जब व्यक्ति अच्छे कार्य करता है तो उसे सफलता मिलती है। जब व्यक्ति गलत कार्यों में लिप्त हो जाता है तो उसे अपयश और असफलता दोनों ही प्राप्त होते हैं।

कुरुक्षेत्र में भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश दिया। श्रीमद्भागवत गीता के उपदेशों में मानव के कल्याण का रहस्य छिपा हुआ है। धर्मयुद्ध में जब अर्जुन धर्मसंकट में फंस गए तब भगवान ने उन्हें गीता का रहस्य निर्दिष्ट किया। गीता के उपदेश व्यक्ति को जीवन जीने की कला सिखाते हैं। ये उपदेशों और विद्वानों की वाणी में ही जीवन की सफलता का रहस्य छिपा हुआ है।

जीवन के दर्शन को समझें
मनुष्य का जीवन विशेष लक्ष्य और उद्देश्य की पूर्ति के लिए प्राप्त हुआ है। इसलिए इस जीवन को मानव कल्याण के लिए समर्पित कर देना चाहिए। जो व्यक्ति दूसरों के लिए जीता है, वह मनुष्य श्रेष्ठ होता है। मनुष्य को इस धरती को सुदंर बनाने के लिए प्रयास करना चाहिए। गीत में भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि मनुष्य का जीवन जबतक है तब तक श्रेष्ठ कार्य करने चाहिए। लोगों के हित में कार्य करना चाहिए। आपके द्वारा अच्छे कार्यों की छाप रह जाती है बाकी सब मिट जाती है। इसलिए जीवन में ऐसे कार्य करने चाहिए जिससे आने वाली पीढियां अनुकरण करें। ये दुनिया इसी तरह से चलती है। और आगे भी चलती रहेगी। व्यक्ति को दुःख ही अच्छे कार्यों की ओर अग्रसर रहना चाहिए। यही जीवन की विशिष्टता है।

अच्छे विचार
विद्वानों का मत है कि व्यक्ति को जीवन में अच्छी चीजों का हिस्सा बनने के लिए सदैव तैयार रहना चाहिए। व्यक्ति के जीवन में बहुत घटित होती रहती है। लेकिन ज्ञान और जागरूकता के अभाव में यह निर्णय नहीं ले पाता है कि उसे किन चीजों को लेकर जाना चाहिए। सफल व्यक्ति हर चीज का ज्ञान रखता है फिर वह बुरी हो या अच्छी तरह से। जानकारी हर चीज की होनी चाहिए। लेकिन अच्छी चीजों का हिस्सा बनना चाहिए और बुरी चीजों का नहीं। जो व्यक्ति अच्छी आदतों को अपनाता है उससे लक्ष्मी जी भी प्रसन्न रहती हैं।

आर्थिक राशिफल 29 जनवरी: इन 5 राशियों को हो सकता है नुकसान, जानें सभी राशियों का राशिफल

माघ मास 2021: 29 जनवरी से माघ मास हो रहा है, आरंभ जानें, माघ मास का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read