HomeHealthगार्डनिंग टिप्स: इन आसान तरीकों से गमले में उगाएं टॉम

गार्डनिंग टिप्स: इन आसान तरीकों से गमले में उगाएं टॉम


ये टिप टूर की मदद से गमले में भी टमाटर उगा सकते हैं। चित्र साभार: ग्रीन-गोल्ड-गार्डन / Youtube

अगर आपके पास पर्याप्‍त जगह नहीं है, तो आप गमलों में भी कुछ चीजें अच्‍छी तरह उगा सकते हैं। इसी में से एक है टॉम। आप इन बागवानी टिप टिप की मदद से अपने किचन गार्डन में टमाटर का पौधा उगा सकते हैं। यह बेहद आसान है।

किचन गार्डन के कई फायदे हैं। इससे जहां हमारा गार्डनिंग का शौक पूरा होता है और हम इस बहाने कई चीजें उगाना सीखते हैं, वहीं हमें घर में ही कुछ चिंताओं आदि से मिल जाते हैं। अगर आपके पास पर्याप्‍त जगह नहीं है, तो आप गमलों में भी कुछ चीजें अच्‍छी तरह उगा सकते हैं। इसी में से एक है टॉम। टमाटर का स्वागत करना और घर में बनने वाली जूलदातर डिशेज में होता है। ऐसे में इसकी रोज ही जरूरत पड़ती है।

आप इन बागवानी टिप टिप (बागवानी युक्तियाँ) की मदद से अपने किचन गार्डन (किचन गार्डन) को बेहतर बना सकते हैं और गमले में भी टमाटर का पौधा उगा सकते हैं। यह बेहद आसान है। जानिए इन टिप टिप्स के बारे में-

पूरी धूप मिलनी चाहिए
सबसे पहले पर्याप्‍त आकार का गमला लें और इसे ऐसी जगह पर रखें, जहां अच्‍छी धूप आती ​​हो और यह पूरे दिन की धूप मिल सके। यानी आपका गमला कम से कम 8 से 10 घंटे धूप में रहेगा। यह इस पौधे के लिए हमारे पास होता है।ये भी पढ़ें – घर की बगिया में उगाएं मेथी, शवाद से सेहत तक गुणों से भरपूर है

गमला बहुत छोटा न हो

जिस गमले में टमाटर का पौधा उगाना हो, वह बड़े आकार का हो तो जियाल्दा बेहतर होता है। गमला बहुत छोटा नहीं होना चाहिए। यह ठीक से बढ़े इसके लिए गमले में पर्याप्त मिट्टी जरूर होनी चाहिए। इसे आप किसी नर्सरी से भी मंगवा सकते हैं।

नर्सरी से मंगाएं बीज
टमाटर को उगाने के लिए आप घर में आए टॉम से भी बीज निकाल सकते हैं या फिर नर्सरी आदि से भी इसके बीज मंगवा सकते हैं। अब गमले में मिट्टी डालें और फिर टमाटर के बीज डालें। कुछ समय बाद इसमें बीज अंकुरित दिखने लगेंगे।

इस तरह से पोषण मिलेगा
यह बात का भी पूरा ध्‍यान रखें कि एक गमले में एक ही पौधा लगता है। एक गमले में अगर जियादा पौधे होंगे तो इसका असर पौधे की बढ़वार पर पड़ेगा और टमाटर भी कम निकलेंगे। इसी तरह के तौर पर गमले में बायोहीग्रेडेबल किचन वेस्ट डाल सकते हैं। यह काम करेगा। इसके अलावा पौधे की सूखी पत्तियों और टूटी शाखाओं को अलग करके भी आप गमले में डाल दें। इससे भी गमले की मिट्टी को पोषण मिलेगा।

लकड़ी का चलो
टमाटर के पौधे बड़े होने के साथ जब ये टमाटर आने लगते हैं तो ये एक ओर को खिलाते हैं। इससे इनका हिलना प्रभावित हो सकता है। इसलिए किसी पतली सी लकड़ी की मदद से सीधा रखें। इसके लिए गमले में पहले से ही लगाकर रखें। वरना बाद में दिक्क्त होगी और लकड़ी पौधे की दीवारों को नुकसान पहुंच सकता है।

ये भी पढ़ें – हेलनाथ से लेकर स्किन तक चमेली के तेल के कई फायदे हैं, आप भी जानें

सर्दियों में न दें जियादा पानी
सर्दियों के मौसम में पौधे को एक ही बार पानी दें। लेकिन गर्मियों में जब जियादा गर्मी पड़ती है तो दोनों समय पानी देना चाहिए। वहाँ इस बात का भी पूरा धानन उस समय पर पौधे की छँटाई करते रहो। सूखी पत्तियों और ब्रांचेस को तोड़कर वापस गमले में डाल दें। इससे मिट्टी की पोषकता बढ़ रही है। आपका पौधा अधिक टमाटर देगा।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read