HomeHealthकैंसर का संकेत भी हो सकता है गले की खराश, हल्की में...

कैंसर का संकेत भी हो सकता है गले की खराश, हल्की में न लें


कोरोना महामारी के दौर में लोग अपनी सेहत को लेकर ज्‍यादातर रहने लगे हैं। ऐसे में सर्दी, खांसी, बुखार भी हो जाए तो दिल डराने लगता है। हालांकि कई बार मौसम में बदलाव और कुछ अन्य कारणों से भी सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसी में से एक है गले में खराश की समसया। जब जियाडा बढ़ जाता है, तो बोलन और खाना खिलाने में भी काफी दिक्क्त होती है। ऐसे में कुछ आसानगेलू उपाय अपना कर इसे दूर किया जा सकता है। अगर आप भी गले की खराश से परेशान हैं, तो ये उपाय अपना सकते हैं-

गले में खराश के कारण
गले में दर्द होना आम बात है। कई बार सर्दी, फ्लू और अन्य वायरल संक्रमण इसकी वजह बनते हैं। जियादतर गले में खराश, संक्रमण या शुष्क हवा की वजह से हो सकता है। लेकिन जब यह जियादा बढ़ी तो मुश्किल होती है।

ये भी पढ़ें – कम होगी बीमारियों का खतरा, 50 की उम्र के बाद ऐसी रखें अपनी डाइट-बैक्टीरिया के संक्रमण से भी गले में खराश हो सकती है। कई बार सभी की वजह से भी खराश हो सकती है।

-शुष्क हवा मुंह और गले से नमी सोख लेती है। इससे भी गले में सूखापन महसूस होता है। इसका मुख्‍य कारण सर्दियों में चलने वाला हीटर है। इससे निकलने वाली हवा सबसे अधिक शुष्क होती है।

-कई बार सिगरेट और तंबाकू का धुआं, अन्य रसायनों और वायु प्रदुषण की वजह से भी गले में जलन होने लगती है।

-कई बार गले में खराश का कारण कैंसर होने का संकेत भी हो सकता है। गले, जीभ का एक ट्यूमर गले में खराश का सामान्य कारण है। हालाँकि इस कारण से होने वाली खराश कुछ दिनों के बाद भी दूर नहीं होती है।

ये भी पढ़ें – किडनी केयर टिप्स: किडनी की देखभाल के लिए जरूरी वजन पर अधिक है

गले में खराश के लिए घरेलू उपचार
हेल्थलाइन की एक रिपोर्ट के मुताबिक आप घर पर कुछ घरेलू उपाय अपना कर गले में खराश को दूर कर सकते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को संक्रमण से लड़ने का मौका देने के लिए भरपूर आराम करें।

-गर्म पानी और 1/2 से 1 चम्मच नमक के मिश्रण से गरगारा करें।
-गर्म तरल पदार्थ पीए। इसमें आप शहद के साथ गर्म चाय, सूप या नींबू के साथ गर्म पानी लें सकते हैं। इसके अलावा हर्बल चाय भी खासतौर पर गले की खराश को दूर करने में मददगार होती है।
-हावा में नमी बनाए रखने के लिए ह्यूमिडिफायर चले गए। यह हवा में नमी बनाए रखता है। आराम मिलेगा।
-जयदा बोलने से पीड़ित जब तक उस गले में जियालदा दर्द, खराश रहे। इससे भी आराम मिलेगा।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read