HomeHealthकम पन्ना जैसा दिमाग होना चाहिए, तो बच्चों को जरूर खिलाना चाहिए

कम पन्ना जैसा दिमाग होना चाहिए, तो बच्चों को जरूर खिलाना चाहिए


कंपिटिशन के इस दौर में हर कोई चाहता है कि उनका लक्ष्य भी हर चीज में आगे बढ़े। चाहे वह खेल कूद हो या पढाई लिखाई। ऐसे में यह आवश्यक है किचेचे शारीरिक और मानसिक (शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत) दोनों ही रूप से हेल्दी (स्वस्थ) हों। उनहें हेल्‍दी रखने के लिए उनके भोजन पर विशेष ध्‍यान रखना बहुत ही आवश्‍यक है। मानसिक रूप से तेज बनाने के लिए अपने बच्चों के लिए वह भोजन दें जो उनके ब्रेन (मस्तिष्क) को भरपूर पोषण दे। ऐसे भोजन जो ब्रेन पावर को बढ़ाने में मददगार हो। यहां आपको ऐसे ही 5 पौधे (खाद्य पदार्थ) के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो कैंसरनिक के ब्रेन डेवलपमेंट के लिए बहुत ही जरूरी माना जाता है।

अंडा जरूरी है

वास्तव में अंडे (अंडे) में मौजूद विटामिंस, कैल्शियम, प्रोटीन ब्रेन डेवलपमेंट (मस्तिष्क विकास) के लिए बहुत ही आवश्यक है। ये ग्रोइंग एज के बेटिकन के ब्रेन सेल्स का विकास करने में तेजी से हेल्पिड करता है। जब बढ़ते शिक्षकोंसन के दिमागों को भरपूर विटामिंस मिलता है तो उनका दिमाग तेज से काम करने लगता है। जिससे मैकनिक की मेमोरी भी प्रभावित होती है। शारीरिक रूप से भी शिचे में ट्रैकट्रंग होते हैं।

दही बेहतरीन

नए शोध यह कह रहे हैं कि चाइल्डन के ब्रेन डेवलपमेंट में दूध से जियादा दही का योगदान होता है। अगर बच्चों को नियमित रूप से दही दिया जाए तो ब्रेन सेल्स फ्लेक्सिबल होते हैं, जिससे दिमाग को सिग्नल लेने और उस पर क्विक रिऐक्शन देने की क्षमता भी बढ़ जाती है।

मेमोरी बढ़ाती है मछली

बचपन से हम और आप सुनते आ रहे हैं कि मछली खाने से दिमाग होता है। वास्तव में मछली में बहुत मात्रा में विटामिन डी और ओमेगा 3 होता है जो बढ़ते हुए कैंसरिन के मेंटल डेवलपरमेंट के लिए बहुत मददगार है।

तरह-तरह के बेरीज जरूरी

स्ट्रॉबेरी और ब्लूबेरी के अलावा चेरी और देसी बेरीज भी दिमाग के विकास के लिए आवश्यक हैं। शेयरट्रॉबेरी और बनलू बेरी में एंटी ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होता है जो कि दिमाग की कार्य करने की क्षमता को बूस्ट करता है।

जरूर बता दें

काजू, किशमिश, बदम, पिसाता, अखरोट से लेकर तमाम ड्राईफ्रूट्स बच्चों के दिमाग के लिए बहुत ही काम की चीज हैं। अगर बच्चों को दूध के साथ यह खिलाया जाए तो इसका असर दो गुना हो जाता है। रात को बाद में भीमगोकर रखें और उन्हें खाली पेट छिलकर खिला दें। ब्रेन डेवलपर के लिए यह बहुत ही आवश्यक है। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचना सामान्य जानकारियों के आधार पर हैं। हिंदी समाचार 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। ये पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।)



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read