HomeReligiousइन बातों को ध्यान में रखें जबकि घर में जानवरों को पालना...

इन बातों को ध्यान में रखें जबकि घर में जानवरों को पालना वित्तीय और मानसिक समस्याओं को आपके घर में विस्तार से नहीं पता चलेगा


सभा में पशु-पक्षी पहुँचना: लोग अपने शौक की खातिर अपने घरों में तरह-तरह के पशु-पक्षियों को पालते हैं। लेकिन घर में इन पशु-पक्षियों को पालते समय यह ध्यान रखना चाहिए कि पशु-पक्षियों को घर में पालना शुभ भी हो सकता है और अशुभ भी। जहाँ कुछ ऐसे पशु-पक्षी हैं जिनको घर में रखने से आर्थिक और मानसिक समस्याएं आती हैं वहीँ कई ऐसे भी पशु-पक्षी हैं जिनको घर में पालने से घर का वातावरण खुशहाल और समृद्ध होता है। आइए जानते हैं कि कौन से ऐसे पशु-पक्षी हैं जिनको घर में पालना शुभ माना जाता है।

कुत्ता: कुत्ते को हिन्दू धर्म में भैरव का सेवक माना जाता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार घर में कुत्ते को पालने और उसको भोजन उपलब्ध कराने से धन-दौलत की प्राप्ति होती है।

मेंढक: वास्तु के मुताबिक घर में मेंढक पालने या पीतल का मेंढक रखने से घर से बिमारियां दूर रहती हैं।

तब तक: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि कोई व्यक्ति अपने घर में तोता पालता है तो तोता घर में आने वाली परेशानियों को पहले ही भांप है।

घोड़ा: घोड़े को वास्तु शास्त्र में ऐश्वर्य का प्रतीक माना जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में घोड़ा पालना या घोड़ों के प्रतिरूप रखना शुभकारी होता है।

कछुआ: कछुए को भगवान विष्णु का दशांश अवतार और माता लक्ष्मी का प्रतिनिधित्व माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि घर में तांबे का कछुआ रखने से वैभव की प्राप्ति होती है।

ड्राफ्ट: वास्तु के अनुसार घर में खरगोश पालने से घर में समृद्धि आती है। वास्तु शास्त्र में सूप को घर के बच्चों के लिए शुभकारी भी माना गया है।

मछली: ऐसा माना जाता है कि घर में सुनहरे रंग की मछली पालने से घर में शांति आती है।

यह रखना चाहिए घर से है दूर:

कबूतर: जहां कबूतर को शिव-पार्वती का प्रतीक माना जाता है वहीं वास्तु शास्त्र में कबूतर को घर में पालना अशुभ ने बताया है। इसलिए भूलकर भी घर में कबूतर को नहीं पालना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read